फ्री फॉरेक्स डेमो अकाउंट

विदेशी मुद्रा पर पैसे कैसे बनाने के लिए?

विदेशी मुद्रा पर पैसे कैसे बनाने के लिए?
गोल्ड रिजर्व की वैल्यू :

navbharat times -

लास वेगास में शूटिंग, माइक टायसन का कैमियो, कैसे फ्लॉप ‘लाइगर’ पर 125 करोड़ का खर्चा पड़ गया भारी!

इससे पहले जान लीजिए कि ‘लाइगर’ (Liger Movie) पर ईडी का शिकंजा क्यों कसा है? दरअसल, डायरेक्टर पुरी जगन्नाध और सह-निर्माता चार्मी कौर पर ‘लाइगर’ मूवी में ब्लैक मनी इस्तेमाल करने का आरोप लगा है। ईडी के अधिकारी उस कंपनी या लोगों का नाम जानना चाहते हैं, जिन्होंने फिल्म में पैसे लगाए हैं। उन्होंने दावा किया है कि इसमें यूज किया गया पैसा विदेश से आया है। ये भी कहा जा रहा है कि फिल्म की फंडिंग में राजनेताओं ने अपना काला धन भी सफेद किया है।

Fact Check: क्या रश्मिका मंदाना और विजय देवरकोंडा ने चोरी-छिपे कर ली है शादी? या होनेवाला है कोई बड़ा धमाका!
फिल्म में विदेशी पैसों का इस्तेमाल अपराध है!

बेरोजगारी दर जुलाई-सितंबर में घटकर 7.2 फीसदी पर आई : एनएसओ

बेरोजगारी दर जुलाई-सितंबर में घटकर 7.2 फीसदी पर आई : एनएसओ

नई दिल्ली (New Delhi), 24 नवंबर . बेरोजगारी के र्मोचे पर सरकार के लिए राहत देने वाली खबर है. बेरोजगारी दर जुलाई-सितंबर के दौरान सालाना आधार पर शहरी क्षेत्रों में 15 वर्ष और उससे ज्यादा उम्र के व्यक्तियों के लिए घटकर 7.2 फीसदी पर आ गई है. राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) के जारी आंकड़ों से यह जानकारी मिली है.

एनएसओ के गुरुवार (Thursday) को जारी आंकड़ों के विदेशी मुद्रा पर पैसे कैसे बनाने के लिए? मुताबिक जुलाई-सितंबर, 2022 के दौरान शहरी क्षेत्रों विदेशी मुद्रा पर पैसे कैसे बनाने के लिए? में 15 वर्ष और उससे ज्यादा उम्र के व्यक्तियों के लिए बेरोजगारी दर घटकर 7.2 फीसदी रही है, जबकि एक साल पहले की समान अवधि में बेरोजगारी दर 9.8 फीसदी रही थी. दरअसल बेरोजगारी दर को श्रमबल के बीच बेरोजगार व्यक्तियों को फीसदी के रूप में परिभाषित किया गया है.

विदेशी मुद्रा भंडार और स्वर्ण भंडार में लगातार तीसरे सप्ताह गिरावट

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। देश में जितना भी विदेशी मुद्रा भंडार और स्वर्ण भंडार जमा होता है, उसके आंकड़े समय-समय पर भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा जारी किए जाते हैं। इन आंकड़ों में उतार-चढ़ाव देखने को मिलता रहता है, लेकिन पिछले कुछ समय से इसमें लगातार गिरावट ही दर्ज की जा रही है। हालांकि, बीच में विदेशी मुद्रा भंडार और स्वर्ण भंडार में कुछ बढ़त दर्ज की गई थी। वहीं, एक बार फिर इसमें गिरावट दर्ज की गई है। इस बात का खुलासा RBI द्वारा जारी किए गए ताजा आंकड़ों से हुआ है। बता दें, यदि विदेशी मुद्रा परिस्थितियों में बढ़त दर्ज की जाती है तो, कुल विदेशी विनिमय भंडार में भी बढ़त दर्ज होती है।

विदेशी मुद्रा पर पैसे कैसे बनाने के लिए?

देश का अगला आम बजट कैसा होना चाहिए, इसे लेकर केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण लगातार विभिन्न संगठनों, उद्योग विदेशी मुद्रा पर पैसे कैसे बनाने के लिए? चैंबर्स, आर्थिक विशेषज्ञों और इससे जुड़े अन्य महत्वपूर्ण संगठनों के साथ बैठक कर चर्चा कर रही है और उनसे सुझाव भी ले रही है।

इसी कवायद के तहत वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े विभिन्न संगठनों के साथ 21-29 नवंबर के बीच बैठक कर उनके सुझाव भी लिए। ज्यादातर बैठकें ऑनलाइन हुई और इन बैठकों में आगामी बजट की रूपरेखा, सरकार के आर्थिक एजेंडे, किसान और मजदूरों के हितों को लेकर आरएसएस से जुड़े विभिन्न संगठनों ने वित्त मंत्री को कई सुझाव दिए।

आरएसएस से जुड़े भारतीय मजदूर संघ- बीएमएस ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से पुरानी पेंशन व्यवस्था को फिर से बहाल करने की मांग की तो वहीं भारतीय किसान संघ-बीकेएस ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की राशि को बढ़ाने की मांग करते हुए इसे उनके इनपुट्स की मुद्रास्फीति के साथ जोड़ने की मांग की। स्वदेशी जागरण मंच - एसजेएम ने चीन के साथ लगातार बढ़ रहे व्यापार घाटे पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए वित्त मंत्री को आयात होने वाले सामानों पर आयात शुल्क बढ़ाने और आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए कई अन्य महत्वपूर्ण कदम उठाने का सुझाव दिया।

विदेशी मुद्रा पर पैसे कैसे बनाने के लिए?

आरएसएस नेताओं ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल करने और आयात शुल्क को बढ़ाने की मांग की

नई दिल्ली, 2 दिसंबर (आईएएनएस)। देश का अगला आम बजट कैसा होना विदेशी मुद्रा पर पैसे कैसे बनाने के लिए? चाहिए, इसे लेकर केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण लगातार विभिन्न संगठनों, उद्योग चैंबर्स, आर्थिक विशेषज्ञों और इससे जुड़े अन्य महत्वपूर्ण संगठनों के साथ बैठक कर चर्चा कर रही है और उनसे सुझाव भी ले रही है। इसी कवायद विदेशी मुद्रा पर पैसे कैसे बनाने के लिए? के तहत वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े विभिन्न संगठनों के साथ 21-29 नवंबर के बीच बैठक कर उनके सुझाव भी लिए। ज्यादातर बैठकें ऑनलाइन हुई और इन बैठकों में आगामी बजट की रूपरेखा, सरकार के आर्थिक एजेंडे, किसान और मजदूरों के हितों को लेकर आरएसएस से जुड़े विभिन्न संगठनों ने वित्त मंत्री को कई सुझाव दिए।

रेटिंग: 4.94
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 484
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *